ईमानदारी

ईमानदारी पसंद है मुझे

कहते थे हमसे..

ईमानदारी का एक किस्सा सुनाया

तो किनारा कर लिया हमसे..

मेरी बेटी के लिए

ना माँग अपना हक़, सखी बनके सवाली
ना बात बने शांति से तो हो जा बवाली….

इधर उधर की

कभी कभी मेरे दिल में ख्याल आता है…
भाई क्या लिखें??
जो सोचो, हमसे पहले ही कोई लिख जाता है

कहीं दूर

शाख़ से यकायक फूल आ गिरे मेरे बालों में,

ज़रूर तुम खिलखिलाए होगे, कहीं, किसी बात पर…

एसिड अटैक

मोहब्बत की हल्की सी आँच जो सह नहीं पाते
मोहब्बत के चहरे पे अंगार उड़ेल देते हैं…

पतझड़

न कर मुझसे हर हाल में साथ देने का वादा मेरे दोस्त,
मैंने पतझड़ में दरख्तों को पत्तों के बिना देखा है…..

कहानी किश्तों में – १

जब उन्होंने मुझे तुम्हारे बारे में बताया कि तुम्हारे सारे दोस्त जानते थे तुम्हारी फीलिंग्स के बारे में । और तुम्हारे दोस्त तुमसे मेरे बर्थडे की पार्टी भी ले लिया करते थे । तो मुझे मन ही मन बहुत गुस्सा आया और शर्मिन्दगी भी महसूस हुई ।

सेक्स को सेक्स ही रहने दो…

यदि प्रकृति ने किसी भी प्रजाति को सेक्स ज्ञान न दिया होता तो यह सृष्टि आगे ही न बढ़ी होती लेकिन प्रकृति ने मनुष्य के अतिरिक्त सभी प्रजातियों के लिए सेक्स और प्रजनन का साल में एक समय अन्तराल निर्धारित किया है ।

कल शहीद दिवस था

कल शहीद दिवस था । मेरा फेसबुक एकाउंट भी बाकी देशवासियों के फेसबुक एकाउंट की तरह भावभीनी श्रद्धांजलि के संदेशों से भर गया ।

हँस भी दो

अथ श्री महाभारत कथा , हाँ-हाँ महाभारत कथा ।
मैं समय हूँ । सास बहू के बीच संवेदनशील वार्ता का साक्षी समय ।

Cultivating reading habit

There are many little ways to enlarge your child’s world. Love of books is the best of all. –Jacqueline Kennedy Onassis

शिव के साथ वार्तालाप -१

याद है तुम्हें, बचपन में जब तुम अस्सेम्बली में आँखें बंद करती थी और अपने दिल की गहराईयों में झांकती थी तो अँधेरे की एक लम्बी सुरंग दिखाई देती थी ।