पहला बहाना…पहला हमेशा ख़ास होता है

यह सोचकर हंसी भी आ रही है कि मेरी बेटी को बिदके घोड़ों को नकेल पहनाना आ गया है. अपने लिए थोड़ी सी चिंता भी हुई कि न जाने कब मेरा नंबर आ जाये?

Advertisements