कहानी किश्तों में – १

जब उन्होंने मुझे तुम्हारे बारे में बताया कि तुम्हारे सारे दोस्त जानते थे तुम्हारी फीलिंग्स के बारे में । और तुम्हारे दोस्त तुमसे मेरे बर्थडे की पार्टी भी ले लिया करते थे । तो मुझे मन ही मन बहुत गुस्सा आया और शर्मिन्दगी भी महसूस हुई ।

Advertisements

सेक्स को सेक्स ही रहने दो…

यदि प्रकृति ने किसी भी प्रजाति को सेक्स ज्ञान न दिया होता तो यह सृष्टि आगे ही न बढ़ी होती लेकिन प्रकृति ने मनुष्य के अतिरिक्त सभी प्रजातियों के लिए सेक्स और प्रजनन का साल में एक समय अन्तराल निर्धारित किया है ।

कल शहीद दिवस था

कल शहीद दिवस था । मेरा फेसबुक एकाउंट भी बाकी देशवासियों के फेसबुक एकाउंट की तरह भावभीनी श्रद्धांजलि के संदेशों से भर गया ।

हँस भी दो

अथ श्री महाभारत कथा , हाँ-हाँ महाभारत कथा ।
मैं समय हूँ । सास बहू के बीच संवेदनशील वार्ता का साक्षी समय ।

Cultivating reading habit

There are many little ways to enlarge your child’s world. Love of books is the best of all. –Jacqueline Kennedy Onassis

शिव के साथ वार्तालाप -१

याद है तुम्हें, बचपन में जब तुम अस्सेम्बली में आँखें बंद करती थी और अपने दिल की गहराईयों में झांकती थी तो अँधेरे की एक लम्बी सुरंग दिखाई देती थी ।

होली है!!!

होरी खेरे रघुवीरा अवध में

होरी खेरे रघुवीरा

साहिर लुधियानवी

ऐसा कुछ कर जाएँ, यादों में बस जाएँ, सदियों जहान में हो चर्चा हमारा ।
दिल करदा ओ यारा दिलदारा मेरा दिल करदा ।।