देखो रूठा ना करो

सुबह आँख खुली और बिस्तर पे उन्हें ना पाकर आलस तुरंत बिस्तर से कूद पड़ा और फिर अगले ही पल मुझे रात को हुई अनबन याद आ गयी । हुहं ! होंगे अपने कंप्यूटर पे । ऐसा सोचके मुहं बनाके हमने करवट बदली और नये सिरे से सोने की कोशिश की । मगर बाग़ी दिल में अलग…

फ़िर एक बार हम रेलवे स्टेशन पहुँच गए और……

आप सब भी जानते होंगे कि रेलवे स्टेशन में कहीं भी चाहे वो सीढ़ियाँ हो या प्लेटफार्म आप किसी से ज़रा सा हटने को कह दें तो एहसास होता है दुनिया में कितने लोग आँख और कान की समस्याओं से जूझ रहे हैं  । हालाँकि देखने में सब बिल्कुल दुरूस्त दिखाई देते है । सारे लोग…

काश ! हम तुम और सच मिल पाते – Hindi blog

हॉस्टल पहुँचे तो घर वालों से दूर होने का दुःख, अपने सहूलियत वाले घोंसले से दूर होने का दुःख, रैगिंग का डर, नए लोगों को दूसरे ग्रह का प्राणी समझने का रोग और अपने प्यारे दोस्त से बिछ्ड़ जाने की त्रासदी । एक ही बात ना जाने कितनी बार याद की मैंने, शायद इतना ही…

चल छैय्याँ छैय्याँ छैय्याँ छैय्याँ चल छैय्याँ छैय्याँ छैय्याँ छैय्याँ -Hindi blog

कभी रिश्तदारों से मिलने, कभी क़ुदरत से रूबरू होने तो कभी घूमने फ़िरने वजह कोई भी हो भारतीय रेल का जिक्र आ ही जाता है । हर बार सफ़र में कुछ ऐसा ख़ास होता है जो यादों में हमेशा के लिए बस जाता है । कई बार रेल का सफ़र बहुत यादगार होता है और…

Park or Stairs?

Yesterday, I saw a mother trying hard to convince her baby to buy a chocolate and her baby was insisting to buy Eclairs. Both had their reason to insist. I loved their squabble and it took me back to Jan 2013, where I and my daughter had a similar tussle.

Making small kids talk their heart

There is one benefit of being a tenant, you can shift home whenever you feel like. We shifted home to avoid travel time (traffic jam) when my husband changed his workplace.

Good girl

Labels are sticky notes that stay with a person, almost forever, in most of the cases. In this blog, I am not talking about ugly labels like loser, freak, idiot, stupid, thin, black and shy. I am talking about “perceived positive or good” labels. My six-year young daughter, Chia, asked me recently “Ma, am I…